आपका राहें पर स्वागत है

सैनिकों के लिये कविता | हे वीर जवान

सैनिकों के लिये कविता | हे वीर जवान

सैनिकों के लिये कविता | हे वीर जवान

सैनिकों के लिये कविता | हे वीर जवान

हे वीर जवान तुम्हें प्रणाम
तुम से ही भारत की शान
तुम बलशाली , शौर्यवान
हँसते-हँसते तजते प्राण

हे वीर जवान तुम्हें प्रणाम
हे वीर जवान तुम्हें प्रणाम


तुम पर्वत से भी अटल
बिजली जैसे तेजवान
तुम्हारी गर्जना सुन काँपते
थर-थर दुश्मनों के पाँव


हे वीर जवान तुम्हें प्रणाम
हे वीर जवान तुम्हें प्रणाम

हौंसला ऐसा बुलंद ,  तुम हो
 जल-थल,गगन में गतिमान
तुम ही बन जाते प्राणदायक
जब-जब देश में आता विपदाकाल 

हे वीर जवान तुम्हें प्रणाम
हे वीर जवान तुम्हें प्रणाम


दोस्तों अगर आपको हमारी पोस्ट "सैनिकों के लिये कविता | हे वीर जवान" पसंद आये तो अपनी राय अवश्य बताएं | ऐसी एक और कविता पढ़ें "फौजी"|
आप यह भी पढ़ सकते हैं :-




2 comments:

  1. वाह ! बहुत सुंदर रचना ! स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ आदरणीया ।

    ReplyDelete
  2. आभार राजेशजी ,आप को भी ढेरों बधाई|

    ReplyDelete